नन्हे नन्हे पाँव मेरे / Nanhe Nanhe Paon Mere Lyrics in Hindi – Sonu Nigam

0
356
नन्हे नन्हे पाँव मेरे / Nanhe Nanhe Paon Mere Lyrics in Hindi – Sonu Nigam


Nanhe Nanhe Paon Mere Lyrics in Hindi – ‘Nanhe Nanhe Paon Mere’ is a brand new bhakti bhajan devoted to Mata Shri Vaishno Devi. This bhajan is sung by Sonu Nigam. On this hymn, a devotee tells the Maiya that I’ve tiny little ft and your temple is constructed on a excessive mountain. Lyrics of Nanhe Nanhe Paanv Mere bhajan are written by Naqsh Layalpuri. Music is given by Amar Haldipur and label is T-Collection.

Bhajan – Nanhe Nanhe Paon Mere
Singer – Sonu Nigam
Lyrics – Naqsh Layalpuri
Music – Amar Haldipur
Label – T-Collection

Nanhe Nanhe Paon Mere Lyrics in Hindi

नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
देख कहीं मैं गिर ना जाऊँ हाथ पकड़ ले मेरा

नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
देख कहीं मैं गिर ना जाऊँ हाथ पकड़ ले मेरा
माँ फिर से पवन का तू रूप बना के
मुझे अपने द्वारे तू ले चल उड़ा के

नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
देख कहीं मैं गिर ना जाऊँ हाथ पकड़ ले मेरा
माँ फिर से पवन का तू रूप बना के
मुझे अपने द्वारे तू ले चल उड़ा के

नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
देख कहीं मैं गिर ना जाऊँ हाथ पकड़ ले मेरा

(संगीत)

वैसे तो निकला था मैं आज अकेला
मिला मुझे राहों में दुनिया का मेला
भीड़ में सब के सब हैं तेरे दीवाने
मुझको तेरी धुन है ये कोई ना जाने

सब के मन में माता तेरे दर्शन की अभिलाषा है
सब के मन में माता तेरे दर्शन की अभिलाषा है
तू सबकी जीवन आशा है
जय तेरी माँ, जय तेरी माँ
जय तेरी माँ, जय तेरी माँ

ओ नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
देख कहीं मैं गिर ना जाऊँ हाथ पकड़ ले मेरा
माँ फिर से पवन का तू रूप बना के
मुझे अपने द्वारे तू ले चल उड़ा के

नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
देख कहीं मैं गिर ना जाऊँ हाथ पकड़ ले मेरा

(संगीत)

तेरी लगन की मैया है यही कहानी
भूख लगी है मुझको ना पिया है पानी
धूप लगी है छाँव तेरी राहों में
थके ना मेरे पाँव तेरी राहों में

सबके मन में माता तेरे दर्शन की अभिलाषा है
सबके मन में माता तेरे दर्शन की अभिलाषा है
तू सबकी जीवन आशा है
जय तेरी माँ, जय तेरी माँ
जय तेरी माँ, जय तेरी माँ

ओ नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
देख कहीं मैं गिर ना जाऊँ हाथ पकड़ ले मेरा
माँ फिर से पवन का तू रूप बना के
मुझे अपने द्वारे तू ले चल उड़ा के

नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
देख कहीं मैं गिर ना जाऊँ हाथ पकड़ ले मेरा

(संगीत)

नाम तेरा ले लेके मैं बढ़ता आया
रुके बिना पर्वत पे मैं चढ़ता आया
आ पहुँचा हूँ मैया मैं भवन पे तेरे
मिलके दूर ना होना नैनो से मेरे

सबके मन में माता तेरे दर्शन की अभिलाषा है
सबके मन में माता तेरे दर्शन की अभिलाषा है
तू सबकी जीवन आशा है
जय तेरी माँ, जय तेरी माँ
जय तेरी माँ, जय तेरी माँ

ओ नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
देख कहीं मैं गिर ना जाऊँ हाथ पकड़ ले मेरा
माँ फिर से पवन का तू रूप बना के
मुझे अपने द्वारे तू ले चल उड़ा के

नन्हे नन्हे पाँव मेरे ऊँचा पर्वत तेरा
देख कहीं मैं गिर ना जाऊँ हाथ पकड़ ले मेरा

We hope you understood the bhajan Nanhe Nanhe Paon Mere lyrics in Hindi. If in case you have any points relating to the lyrics of Nanhe Nanhe Paon Mere bhajan by Sonu Nigam, please contact us. Thanks.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here