शर्मिन सहगल ने ट्रोलिंग पर तोड़ी चुप्पी: कहा- मेरे खिलाफ नफरत बहुत बढ़ गई है, लेकिन अब इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ता

0
24
शर्मिन सहगल ने ट्रोलिंग पर तोड़ी चुप्पी: कहा- मेरे खिलाफ नफरत बहुत बढ़ गई है, लेकिन अब इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ता

10 मिनट पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

संजय लीला भंसाली की सीरीज ‘हीरामंडी’ में आलमजेब का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस शर्मिन सहगल को काफी ट्रोलिंग का सामना करना पड़ा था। अब हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने इस पर अपनी चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा- मैं सिर्फ इतना जानती हूं कि आलमजेब के किरदार में मैंने काफी मेहनत की है। बाकी दर्शकों को पसंद आना या न आना तो बनता है। लेकिन मुझे लगता है कि मेरे खिलाफ नफरत काफी बढ़ गई है। हालांकि, मेरे साथ मेरा सपोर्ट सिस्टम है, जो हमेशा मेरे साथ खड़ा रहता है। इसलिए मैं किसी भी चीज से ज्यादा प्रभावित नहीं होती हूं।

शर्मिन सहगल ने ट्रोलिंग पर तोड़ी चुप्पी: कहा- मेरे खिलाफ नफरत बहुत बढ़ गई है, लेकिन अब इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ता

मीना कुमारी पर दिए गए अपने बयान के बारे में शर्मिन कहती हैं कि लोगों ने उनके बयान को गलत तरीके से लिया है। उन्होंने कभी भी अपनी तुलना मीना कुमारी से नहीं की। मेरी बातों का गलत मतलब निकाला गया है। मैंने कभी नहीं कहा कि उन्होंने अपनी एक्टिंग में कोई मेहनत नहीं की।

शर्मिन ने एक पुराने इंटरव्यू में कहा था

हीरामंडी सीरीज की रिलीज के बाद शर्मिन सहगल ने ई-टाइम्स को दिए इंटरव्यू में कहा था कि उन्होंने अपने रोल की तैयारी के लिए मीना कुमारी की फिल्म पाकीजा को 16-17 बार देखा था। उन्होंने आलमजेब का रोल मीना कुमारी से प्रेरणा लेकर किया था।

शर्मिन सहगल ने ट्रोलिंग पर तोड़ी चुप्पी: कहा- मेरे खिलाफ नफरत बहुत बढ़ गई है, लेकिन अब इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ता

संजीदा शेख पर टिप्पणी करने पर दी गई सफाई

संजीदा शेख पर आउटसाइडर कमेंट को लेकर शर्मिन ने कहा- मैं फिर से यही कहूंगी कि मेरी बातों का गलत मतलब निकाला गया है। आप सिर्फ 10 सेकंड की क्लिप देखकर संजीदा और अदिति के साथ मेरे रिश्ते पर सवाल नहीं उठा सकते।

शर्मिन सहगल ने ट्रोलिंग पर तोड़ी चुप्पी: कहा- मेरे खिलाफ नफरत बहुत बढ़ गई है, लेकिन अब इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ता

शर्मिन ने संजीदा को बाहरी बताया था

एक इंटरव्यू के दौरान संजीदा शेख से पूछा गया कि संजय लीला भंसाली के साथ काम करने का उनका अनुभव कैसा रहा? संजीदा ने कहा कि वे एक परफेक्शनिस्ट हैं। वे बहुत क्रिएटिव हैं। वे चाहते हैं कि कोई भी सीन साधारण न लगे, वे जो भी करते हैं, वह उत्कृष्टता से कम नहीं होता। अपने शानदार क्रिएटिव माइंड, कला के प्रति तीखी वकालत और ईमानदारी के लिए उन्हें पूरी दुनिया में सम्मान दिया जाता है।

शर्मिन सहगल ने ट्रोलिंग पर तोड़ी चुप्पी: कहा- मेरे खिलाफ नफरत बहुत बढ़ गई है, लेकिन अब इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ता

इस पर शर्मिन ने संजीदा को टोकते हुए कहा कि भंसाली का वर्णन करने के लिए परफेक्शनिस्ट एक बहुत ही बुनियादी शब्द है। यह एक ऐसा शब्द है जिसका इस्तेमाल केवल एक बाहरी व्यक्ति ही कर सकता है जिसने कभी उनके साथ काम नहीं किया हो या कभी सेट पर उनका निर्देशन नहीं देखा हो। मुझे लगता है कि उनका काम इससे कहीं बढ़कर है। नेटिज़ेंस को शर्मिन का यह बयान पसंद नहीं आया। उन्हें अभिनेत्री का रवैया पसंद नहीं आया। यूजर्स का दावा है कि शर्मिन ने संजीदा को टोकते हुए उन्हें ‘बाहरी’ कहा।

खबरें और भी हैं…