पापा शान से तुलना पर बेटे माही ने कहा: मैं अपनी अलग पहचान बनाना चाहता हूं, इसलिए रोज करता हूं अभ्यास

0
25
पापा शान से तुलना पर बेटे माही ने कहा: मैं अपनी अलग पहचान बनाना चाहता हूं, इसलिए रोज करता हूं अभ्यास

4 मिनट पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

सिंगर शान के बेटे माही अपने पिता के नक्शे कदम पर चलते हुए सिंगिंग में अपना करियर बना रहे हैं। सिंगल एल्बम ‘सॉरी’ के बाद माही का दूसरा सिंगल एल्बम ‘जादुगरी’ सारेगामा पर रिलीज हो गया है। हाल ही में दैनिक भास्कर से खास बातचीत के दौरान माही ने बताया कि लोग उनकी सिंगिंग की तुलना उनके पिता शान से जरूर करेंगे।

पापा शान से तुलना पर बेटे माही ने कहा: मैं अपनी अलग पहचान बनाना चाहता हूं, इसलिए रोज करता हूं अभ्यास

बातचीत के दौरान माही ने बताया कि उन्हें बचपन से ही पता था कि उन्हें सिंगिंग में करियर बनाना है। माही ने कहा- बचपन में मैं अपने डैडी के साथ स्टेज पर परफॉर्म करती थी। 10 मिनट की परफॉर्मेंस में मुझे जो खुशी मिलती थी, उसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। मैंने तभी तय कर लिया था कि मुझे सिंगर ही बनना है।

पापा शान से तुलना पर बेटे माही ने कहा: मैं अपनी अलग पहचान बनाना चाहता हूं, इसलिए रोज करता हूं अभ्यास

‘तन्हा दिल’ शान का आइकॉनिक एल्बम है। माही कहती हैं, ‘वैसे तो डैड के कई गाने मेरे पसंदीदा हैं, लेकिन ‘तन्हा दिल’ मेरे दिल के बहुत करीब है।’ जब उनसे पूछा गया कि डैडी शान के साथ पहली स्टेज परफॉर्मेंस के दौरान उन्होंने कौन सा गाना गाया था? माही ने कहा- मैंने किशोर कुमार का गाना ‘आ चल के तुझे मैं लेकर चलूं, दूर गगन की छांव में’ गाया था। उस समय मैं 9वीं में पढ़ती थी।

पापा शान से तुलना पर बेटे माही ने कहा: मैं अपनी अलग पहचान बनाना चाहता हूं, इसलिए रोज करता हूं अभ्यास

अपने डैडी शान के बारे में बात करते हुए माही ने कहा कि उन्हें कभी अहसास ही नहीं हुआ कि उनके डैडी इतने बड़े सिंगर हैं। उन्होंने कहा- डैडी हमारे लिए घर पर बस डैड ही थे। उन्होंने स्टारडम को घर से दूर रखा। जब मैं काम के लिए लोगों से मिलने लगी, तब लोगों से पता चला कि डैडी इतने बड़े सिंगर हैं।

पापा शान से तुलना पर बेटे माही ने कहा: मैं अपनी अलग पहचान बनाना चाहता हूं, इसलिए रोज करता हूं अभ्यास

सिंगल एल्बम ‘सॉरी’ के बाद माही का दूसरा सिंगल एल्बम ‘जादुगरी’ हाल ही में सारेगामा पर रिलीज हुआ है। माही कहती हैं, ‘ये दोनों एल्बम मेरे दिल के बहुत करीब हैं। यह तो बस शुरुआत है। ‘जादुगरी’ को मेरे बड़े भाई सोहम ने प्रोड्यूस किया है। मेरे लिए सबसे बड़ी बात यह है कि इस फिल्म का प्रमोशन अरिजीत सिंह ने किया है। यह मेरे लिए बड़ी उपलब्धि है।’

माही की आवाज़ शान से काफी मिलती जुलती है। ऐसे में माही की तुलना उनके पिता शान से होना स्वाभाविक है। माही ने कहा- मुझे पता है कि लोग मेरी तुलना मेरे पिता से करेंगे। इसलिए मैं हर दिन अभ्यास करती हूं ताकि मेरी एक अलग पहचान बन सके। मैं अपनी आवाज़ और गायकी पर काम करती हूं। मेरा लक्ष्य खुद को बेहतर बनाना है।

पापा शान से तुलना पर बेटे माही ने कहा: मैं अपनी अलग पहचान बनाना चाहता हूं, इसलिए रोज करता हूं अभ्यास

जहां तक ​​तुलना की बात है, तो इस बहाने लोग मेरे गाने सुनेंगे। यह मेरे लिए एक तरह से अच्छा है। लेकिन मैंने अपनी पहचान खुद बनाई है। जब आप ऐसे परिवार से आते हैं जहां पहले से ही कोई स्थापित गायक हो, तो खुद को स्थापित करने की चुनौती बढ़ जाती है। आपको अपने परिवार से सहयोग तो मिलता है, लेकिन आपको अपनी पहचान खुद ही बनानी होती है।